ब्‍लैडर इनफेक्शन एक ऐसी समस्या है जो महिला और पुरुषों दोनों को हो सकती है. आमतौर पर तो देखा जाता है की इस समस्या से ज्यादा परेशान महिला होती है पर अब ये  समस्या पुरुषों में भी देखी जाती हैं. ब्‍लैडर इनफेक्शन को साइस्‍ट‍िसिस और ब्‍लैडर में सूजन भी कहा जाता है. लड़को में उम्र के साथ ब्‍लैडर इनफेक्शन होने की आशंका बढ़ जाती है. ऐसा अंडकोश के आकार में बढ़ोत्तरी होने के कारण होता है.

ब्‍लैडर इनफेक्शन के लक्षण

ब्‍लैडर इनफेक्शन में व्‍यक्ति को यूरीन करते समय जलन होती है. यह ब्‍लैडर इनफेक्शन का सबसे सामान्‍य लक्षण है.

यूरीन ज्यादा आना

अगर आपको ज्यादा यूरीन आता है तो आप ब्‍लैडर इनफेक्शन की समस्या हो सकती हैं. बहुत तेज यूरीन आने पर भी पूरी तरह से मूत्र त्‍याग न कर पाना  भी इसका एक लक्षण हैं.

ये भी पढ़ें- इन 6 टिप्स से बचे इरेक्टाइल डिसफंक्शन से

यूरीन से तेज बदबू आना

अगर आपके यूरीन से तेज बदबू आती है और यूरीन का रंग लाल या काला होता है तो शायद आपको ब्‍लैडर इनफेक्शन हो सकता हैं.

मूत्राशय में ऐंठन

अधिक उम्र में लोगों को काफी अधिक थकान और मानसिक दुविधा हो सकती है- ये अधिक गंभीर मूत्राशय संक्रमण का कारण हो सकता है।

किडनी हो सकती है प्रभावित

यूरीन करते वक्त दर्द और साथ में उल्‍टी, बुखार, ठंड और कमर या पेट में दर्द होने का मतलब है की इंफेक्शन ने आपकी किडनी को भी प्रभावित कर दिया है. इन सबका अर्थ यह भी है कि आपके प्रोस्‍टेट भी संक्रमित हो चुके हैं या आपको किडनी ट्यूमर हो चुका है. इन परिस्थितियों में फौरन चिकित्‍सीय सहायता लीजिए.

ये भी पढ़ें- खाने में शामिल करें ये 4 चीजें और पाएं सिक्स पैक 

डाक्टर नहीं लगा पाए पता की क्यों होता है इंफेक्शन

आखिर पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में इस इंफेक्शन के क्‍या कारण हैं. उनकी ऐसी राय है कि क्‍योंकि महिलाओं का मूत्रमार्ग पुरुषों की अपेक्षा छोटा होता है, इसलिए उन्‍हें यह संक्रमण होने का खतरा अधिक होता है. यह मार्ग काफी छोटा होता है. यह करीब डेढ़ इंच का होता है, ऐसे में मूत्रमार्ग का बैक्‍टीरिया से प्रभावित होने का खतरा बढ़ जाता है.

Tags:
COMMENT