छाती का दर्द सभी को अमूमन होता ही है और इस को हम बहेत आसानी से गैस या अपच के दर्द से जोड़ देता है. अगर आप भी ज्यादातर छाती के दर्द से परेशान है तो जितनी जल्जी हो सके आप डाक्टर से संपर्क करें क्योंकि ये दर्द समान्य नही बल्कि एनजाइना को  एनजाइना पेक्टोरिस भी कहते है हो सकता है. एनजाइना एक प्रकार का छाती का दर्द है जो हृदय में रक्त के प्रवाह में कमी के कारण होता है. एनजाइना कोरोनरी धमनी (coronary artery) की बीमारी का एक लक्षण है. एनजाइना देखा जाए तो सामान्य है, फिर भी यह अन्य प्रकार के सीने में दर्द, जैसे कि अपच के दर्द या परेशानी से अलग करना मुश्किल हो सकता है. अगर आपको छाती में दर्द होता है, तो तुरंत डाक्टर की सलाह लें, इसमें बिल्कुल देरी ना करें.

पेशेंट कैसे महसूस करते है एनजाइमा को

अगर आप किसी एनजाइना पेशेंट से पहुछेंगे तो वो कहेगा-  कि उनके सीने को निचोड़ा जा रहा है या ऐसा महसूस कर रहा है जैसे उनके सीने पर भारी वजन रखा गया है. एनजाइना एक नए प्रकार का दर्द है जिसे केवल डौक्टर ही पहचान सकता है.

कैसे पहचाने एनजाइना

सीने में दर्द या बेचैनी, जो संभवतः दबाव, निचोड़ और जलन होना.

सीने में दर्द के साथ आपकी बाहों, गर्दन, जबड़े, कंधे या पीठ में दर्द होना.

जी मिचलाना.

थकान.

सांसों की कमी.

पसीना आना.

सिर चकराना.

ये भी पढ़ेंफैट से हो सकता है लीवर कमजोर, जानें

क्या है एनजाइना के कारण

एनजाइना आपके हृदय की मांसपेशियों में रक्त के प्रवाह में कमी के कारण होता है. आपके रक्त में औक्सीजन होता है, जिसे आपके हृदय की मांसपेशियों को जीवित रहने की आवश्यकता होती है. जब आपके हृदय की मांसपेशियों को पर्याप्त औक्सीजन नहीं मिलता, तो यह इस्किमिया नामक एक स्थिति का कारण बनता है. आपके हृदय की मांसपेशियों में रक्त के प्रवाह में कमी का सबसे आम कारण कोरोनरी धमनी रोग (सीएडी) है.

ये भी पढ़ें- पिता बनने के लिए नींद लेना है जरुरी, जाने क्यों

एंजाइना का खतरा होता है इन कारण से

ये बीमारी आमतौर पर पुरुषों में ज्‍यादा पाई जाती है. खासकर, जो लोग तम्‍बाकू या धूम्रपान करते हैं. डायबिटीज के कारण भी इस बीमारी के होने की आशंका ज्‍यादा रहती है. हाई ब्लड प्रेशर और कोलेस्‍ट्रौल इस बीमारी को बढ़ावा देती है. एक्‍सरसाइज न करने वालों को भी एंजाइना का खतरा रहता है. इसके अलावा अधिक उम्र में और जेनेटिक कारणों से ये बीमारी हो सकती है.

Tags:
COMMENT