ओला और उबर ड्राइवर व उन की कंपनियां इन्हीं चोरों में शामिल हैं. भारत सरकार भी उन की साझीदार है.