इस बार 10वीं व 12वीं परीक्षाओं के अलगअलग परीक्षा बोर्डों के परिणाम लगभग एकसाथ आए और 99.3 से 99.6 फीसदी तक अंक पाने वाले ही फर्स्ट रैंक पा सके.