दादी और पिता के अत्याचार से मेरी मां टूटती चली गईं और एक दिन इस संसार से विदा हो गईं. इस घटना ने मेरे मन में पिता और दादी के प्रति नफरत भर दी.