अबका समय पहले से काफी अलग है. आज अभिनेत्रियां अपनी अदाएं हाथ में बदूक और तलवार लेकर दिखाती हैं. अच्छी बात यह है कि आम जनता ने भी बाहें खोल कर वुमन सेंट्रिक फिल्मों का स्वागत किया है.