हरियाणा में चौधरी देवीलाल की राजनीतिक विरासत को संभालने के लिए उन के बेटे ओमप्रकाश चौटाला आए. वे राज्य के मुख्यमंत्री रहे. मुख्यमंत्री रहते हुए शिक्षक भरती मामले में उन्हें जेल की सजा हुई.