जो लोग कहते हैं कि देश में जाति सिर्फ आरक्षण की वजह से बची है वे या तो अनजान हैं या जानबूझ कर अनजान बने रहना चाहते हैं.