सुरेश और प्रभाकर के बीच उलझी बिट्टी यह नहीं समझ पा रही थी कि अपने जीवनसाथी के रूप में किसे चुने. सुरेश को, जिस के साथ हंसतेखेलते वह जवान हुई थी या प्रभाकर को, जो केवल 2 वर्ष पूर्व ही उस की जिंदगी में आया था.