महत्त्वाकांक्षी उमा ने खूब सपने संजोए थे अपने भावी पति के बारे में. जल्द ही उस का सपना पूरा भी हो गया, लेकिन सपनों के पीछे भागती उमा की इच्छाएं दिनरात बलवती होती रहतीं.