सरस सलिल विशेष

आजकल पैसों के लिए बहुत से लोग हर बुरा काम करने को तैयार रहते हैं, क्योंकि उन्होंने पद और पैसे को ही अपनी जिंदगी का मकसद बना लिया है. पैसों के लिए वे रिश्तों को भी तोड़ने में कोई गुरेज नहीं करते हैं. ऐसी ही एक दास्तान रिश्वत लेने के जुर्म में सजा भुगत चुके 60 साला सबइंस्पैक्टर की है. कभी मेहनतमजदूरी कर के, तो कभी भीख मांग कर वह अब अपनी जिंदगी गुजार रहा है. उस आदमी ने बताया कि अपनी नौकरी में उस ने तमाम लोगों की नाक में दम कर दिया था. पैसे ऐंठने के लिए वह उन के रिकशों के पहियों की हवा निकाल देता था, तो कभी उन्हें ऐसा खराब कर देता था कि रिकशे वाले बुरी तरह रो पड़ते थे.

जिस रिकशे वाले की बेटी, बहन या बीवी खूबसूरत होती थी, उन के साथ वह उन के सामने ही बलात्कार करता था. उन की कई बहनों और बेटियों को तो अपने गुंडों से उठवा कर वह उन से देह धंधा करा कर खूब पैसे कमाता था.

एक बार वह रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया. जेल के बंदियों में कुछ ऐसे भी थे, जिन की बीवियों का उस ने बलात्कार किया था. वहां उन्होंने उस का जीना मुहाल कर दिया. जेल में वे उस से गटर की सफाई कराते थे और हर रोज अपने पैर दबवाते थे. वे बंदी उसे इतनी बुरी तरह से मारते थे कि कई बार उस के कपड़ों में ही पेशाब निकल जाता था.

जेल में बंद रहने पर उस के घर वालों ने भी उस की कोई सुध नहीं ली थी. एक साल बाद वह जमानत पर जेल से निकल कर अपने घर पहुंचा, तो पड़ोसियों से मालूम हुआ कि उस के बच्चे मकान को बेच कर कहीं बाहर चले गए हैं.

वह एक होटल में जूठे बरतन साफ करने के काम पर लग गया था. एक दिन एक अखबार में छपी खबर को पढ़ कर मालूम हुआ कि उस की लड़की जिस लड़के के साथ जेवर और पैसे ले कर भागी थी, उस ने उस की बेटी के साथ कुछ दिनों तक मौजमस्ती करने के बाद  हत्या कर दी थी.

उस का बेटा भी अपनी मां की हत्या कर के एक लड़की को ले कर घर से भाग गया था. कुछ दिनों बाद उस  लड़की के घर वालों ने उस के बेटे की भी हत्या कर दी थी.

ऐसा ही एक मामला 40 साला एक खूबसूरत औरत का है, जो ठेकेदार के यहां मजदूरी कर के अपनी जिंदगी बिता रही थी. 10 साल पहले वह लड़कियों के एक सीनियर सैकेंडरी स्कूल में सैकंड ग्रेड की टीचर थी.

स्कूल में पढ़ने वाली खूबसूरत लड़कियों को वह अपने घर पर ट्यूशन पढ़ने के लिए बुलाती थी और इम्तिहान में ज्यादा नंबर देने व शौपिंग कराने का लालच दे कर उन्हें अपने जानकार पैसे वालों के साथ अपने घर पर ही उन से देह धंधा करवा कर पैसे कमाती थी.

एक बार जब उस की इन करतूतों के बारे में उस के पड़ोसियों को मालूम हुआ, तो उन्होंने पुलिस को सूचना दे कर उसे गिरफ्तार करा दिया.

इस मामले में जब उसे जेल की सजा हुई, तो उस की सरकारी नौकरी भी चली गई और दूसरे शहर में रह कर सरकारी नौकरी करने वाले उस के पति ने भी उस से अपना रिश्ता खत्म कर लिया.

जेल की सजा खत्म होने पर वह मायके गई, तब उन्होंने भी उस से अपने रिश्ते खत्म कर लिए थे. तब से वह मजदूरी कर एक गुमनाम जिंदगी जी रही है.

धनदौलत के लालच में लोग ऐसे बुरे काम करते हैं, पर जब उन्हें उन के बुरे कामों की सजा मिलती है, तब वे पछतावे के आंसू बहाते हैं.