बीते सालों में भारत की कुछ खिलाड़ियों ने रिकौर्ड बनाए हैं, लेकिन उन्हें उस तरह की पब्लिसिटी नहीं मिली, जैसी पुरुष क्रिकेटरों को मिलती रही है.