होस्टल से छुट्टियों पर घर लौटे बच्चों को मेहमान बना कर रखना या उन की हर फरमाइश को पूरा करना उन्हें आलसी व निकम्मा बना सकता है. सो, उन्हें घर के कामों में सब के साथ लगाएं और परिवार का हिस्सा बनाएं.