सरस सलिल विशेष

 

आज हम खुद में इतने सिमट गए हैं कि त्योहारों पर अपने दोस्तों, रिश्तेदारों से मिलने के बजाय फोन पर ही बात कर लेते हैं, फेसबुक, व्हाट्सऐप पर ही बधाई दे देते हैं, सोचते हैं कौन जा कर मिले, कौन घर बुलाए, इतनी दूर कौन जाए. पहले तो मेहमाननवाजी करो, फिर घर की सफाई करो, इस से तो बेहतर है कि घर पर छुट्टी का मजा लो और आराम करो. लेकिन जब बात उत्सव की आती है तो कहते हैं ‘त्योहारों का मजा अब कहां, मजा तो पहले आता था, कैसे सब मिल कर साथ मनाते थे, तरहतरह के पकवानों का मजा लेते थे.’

भले ही आज एकल परिवार हैं, जगह की दिक्कत है लेकिन अगर आप चाहें तो त्योहारों का मजा उसी तरह से ले सकते हैं जैसे आप पहले लिया करते थे. तो देर किस बात की, इस होली एक अच्छी सी पार्टी कर के अपने रिश्तेदारों व दोस्तों के  साथ होली का मजा लें.

लें जिम्मेदारी : कोई और शुरुआत करेगा, इस इंतजार में न बैठे रहें बल्कि खुद जिम्मेदारी ले कर आयोजन करें ताकि इस के जरिए आप व्यस्त जीवनशैली से आईर् दूरियों को मिटा सकें और होली के रंग से अपने रिश्तों में प्यार बढ़ा सकें.

तैयारी में न करें देरी : कई बार ऐसा भी होता है कि हम पार्टी के लिए सब को निमंत्रण तो दे देते हैं लेकिन सही तरीके से तैयारी नहीं करते, जिस का नतीजा यह होता है कि मेहमान घर पर बैठ कर हमारी बुराइयां कर रहे होते हैं और हम सोचते हैं कि एक तो बुलाओ और ऊपर से बातें सुनो. आप के साथ ऐसा कुछ न हो, इसलिए तैयारी में कोई कमी न छोड़ें.

थीम पार्टी से डालें जान : होली पर सफेद कपड़े और रंगगुलाल तो सभी जगह दिखते हैं लेकिन आप अपनी पार्टी में कुछ अलग करिए, जिस से पार्टी का मजा दोगुना हो जाए. इस के लिए आप पार्टी की थीम रखिए, जैसे सफेद कपड़ों के साथ सभी को चश्मा व टोपी लगा कर आना है. अगर कोई चाहे तो रंगबिरंगी विग लगा कर भी आ सकता है, इस से रंगों से बाल खराब भी नहीं होते और पार्टी में जो अतिरिक्त मजा आता है, सो अलग.

सभी हों आमंत्रित : ऐसा न सोचें कि आप के सासससुर पार्टी में जा कर क्या करेंगे, वे तो होली खेलते नहीं हैं, वहां किसी को जानते नहीं हैं बल्कि पार्टी में सभी को ले कर जाएं. ऐसा भी न करें कि आप केवल उन्हीं को बुलाएं जिन से आप की बात होती है या जो आप को अच्छे लगते हैं बल्कि जो आप से रूठ गए हैं या जिन से आप की किसी बात पर कहासुनी हो गई है, उन्हें रंगों के प्यार से मनाएं. अपनी पार्टी में उम्र की कोई सीमा न रखें और 3 पीढि़यों के साथ होली का आनंद लें.

सब को सम्मान दें : इस दिन आप के पास काम ज्यादा होते हैं और आप मेहमानों पर ध्यान ही नहीं दे पातीं, उन के साथ समय ही नहीं बिता पाती, बस, काम में ही व्यस्त रहती हैं. ऐसे में मेहमानों को लगता है कि जब तैयारी हुई ही नहीं थी तो बुलाने की क्या जरूरत थी. इसलिए जरूरी है कि आप एक लिस्ट  बना लें ताकि आप से कुछ भी छूट न पाए और उस दिन आप काम करने के बजाय उत्साह व जोश के साथ मेहमानों का स्वागत करें.

गानों का कलैक्शन कर लें :  नाचगाने के बिना होली का मजा अधूरा है, इसलिए आप पहले से ही पार्टी के लिए कुछ गाने डाउनलोड कर के रख लें. अगर आप पहले से गानों का कलैक्शन तैयार नहीं करतीं तो पार्टी के बीचबीच में आप को गाने खोजने पड़ते हैं और उस बीच कोई कहता है ‘फलां गीत बजा दो’ और इस तरह से गाने खोजने के चक्कर में कोई एंजौय नहीं कर पाता. इसलिए बेहतर है कि आप पहले से ही होली के गानों का कलैक्शन तैयार कर लें. इस के अलावा बच्चों के लिए भी कुछ गाने और घर के बड़ेबुजुर्गों के पसंद के गाने भी डाउनलोड कर लें ताकि उस दिन वे भी खुद को डांस करने से न रोक पाएं.

परोसें पारंपरिक व्यंजन : त्योहारों का मजा तभी आता है जब आप उस दिन विशेष व्यंजन खाते हैं. इसलिए इस दिन होली पर खाए जाने वाले व्यंजन रखें, जैसे गुझिया, दहीवड़ा, कांजी, ठंडाई इत्यादि. अगर आप पार्टी को चटपटेदार बनाना चाहती हैं तो गोलगप्पे, चाट, समोसे, छोलेभठूरे, पावभाजी, भेलपूरी जैसे स्ट्रीट फूड भी रख सकती हैं.

पकवानों का आनंद लें : अगर आप अपने रिश्तेदारों व दोस्तों के घर होली पार्टी पर जा रही हैं तो डाइटिंग की रट न लगाती रहें कि मैं यह नहीं खाऊंगी, मैं डाइट पर हूं. डाइटिंग भूल कर पारंपरिक पकवानों का आनंद लें. अगर आप ‘ये नहीं खाऊंगी वो नहीं खाऊंगी’ कहती हैं तो आप की वजह से पार्टी का मजा किरकिरा होता है और आप के दोस्तों व रिश्तेदारों को पार्टी में आप के लिए कुछ अलग से इंतजाम करना पड़ता है.

बड़ेबुजुर्गों का रखें खास ध्यान : ऐसा न करें कि पार्टी की मस्ती में घर के बड़ेबुजुर्गों को भूल जाएं, बल्कि उन के लिए खास प्रबंध करें. उन के खानेपीने से ले कर, उन के उठनेबैठने व आराम करने तक की चीजें तैयार रखें ताकि अगर वे थक जाएं तो बैठ कर पार्टी का आनंद उठा सकें.

वर्चुअल होली में न रहें व्यस्त : जब आप अपनों के साथ हैं तो उस समय सोशल साइट्स पर व्यस्त न रहें क्योंकि हम सब थोड़ी देर होली खेलते हैं, फिर फोटो खिंचवा कर सोशल साइट्स पर डाल कर पूरे दिन लाइक व कमैंट में बिजी हो जाते हैं. ऐसा न करें, बल्कि अपनों के साथ समय बिताएं, उन से बात करें.

खेलों से बनाएं पार्टी मजेदार : पार्टी को मजेदार बनाने के लिए इस में गेम्स भी रखें. आप तंबोला, म्यूजिकल चेयर, कार्ड, बैलूनशूटर, गुब्बारे फुलाना आदि मजेदार गेम्स पार्टी में रखें ताकि सब खुल कर एंजौय कर सकें.

मस्ती में न हो बदले की भावना : कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो इस मस्ती के दौरान बदला लेने की कोशिश करते हैं, जैसे जबरन रंग लगाना, कपड़े फाड़ देना, कीचड़ में गिराना. ऐसा करना गलत है. ऐसा कर के आप इस त्योहार का मजा खराब करते हैं.

नशीले पदार्थों से न करें मजा फीका : परिवार में कई लोग ऐसे भी होते हैं जो यह सोचते हैं कि होली पर भांग पी कर मस्ती नहीं की तो क्या किया. लेकिन आप सब को बता दें कि आप की पार्टी में ऐसा कुछ नहीं होना चाहिए क्योंकि नशे से पार्टी का मजा खराब ही होता है.

समापन करें धमाकेदार : आप अपनी पार्टी का समापन धमाकेदार तरीके से करें और सब को बता दें कि आखिर में कुछ खास होने वाला है, इसलिए जो गया उस ने मिस किया. पार्टी को मजेदार बनाने के लिए सब को कुछ टाइटल दें, जैसे ‘कौन रहा महफिल की जान,’ ‘किस ने किया पैसा वसूल,’ ‘कौन रहा रोमांटिक कपल.’ आप के द्वारा इस तरह के टाइटल देने से सब का उत्साह बढ़ेगा और अगली बार जब सब आएंगे तो पूरी तैयारी से आएंगे.