सरस सलिल विशेष

अगर देखा जाये तो लड़कियों के कपड़ों पर हमारे देश में चर्चा चलती ही रहती है और कुछ महान आत्माओं का तो ये भी कहना है कि लड़कियों का रेप होने का कारण भी उनके पहनावा ही होता है. हमेशा लड़कियों को उनके पहनावे को लेकर टोका जाता है कि कपड़े ठीक से पहने, लेकिन भारत में एक ऐसी जगह भी हैं जहां खुद घर वाले अपने घर की अविवाहित लड़कियों को कपड़े उतरवाने पर मजबूर कर रहे हैं. जी हां, आपको हैरानी जरूर होगी लेकिन ये सच है. और इतना ही नहीं लड़कियों के कपड़े उतरवाकर उनको घर से बाहर भेजा जाता है, आइये जानते हैं क्या है पूरा मामला.

बिहार राज्य में एक ऐसी जगह जहां पर अविवाहित लड़कियों को कपड़े उतारकर घर से बाहर निकलना पड़ता हैं. इस जगह पर हर घर से अविवाहित लड़कियाँयां रोज सूरज डूबने के बाद अपने-अपने घरों से कपड़े उतारकर निकलने लग जाती हैं. और घर से बाहर बिना कपड़ो के रहती हैं

खबरों के मुताबिक इस गांव की ये लड़कियां रोज शाम होने के बाद अपने कपड़े उतारकर अपने-अपने खेतों में जाती हैं. और वहां पर बिना कपड़ों के घूमती हैं. जहां घर परिवार अपने बहन-बेटी की इज्जत-आबरु का रखवाला होता है, उधर ये बात आपको हैरान कर देगी कि लड़कियों को खुद उनके घरवाले ही ऐसा करने को मजबूर करते हैं.

बिहार के कईं क्षेत्रों में कम बारिश के कारण लोगों की फसलें खराब होती जा रही हैं. और कम बारिश होने पर लोग यही धारणाए अपनाते हैं. और अपनी बेटियों को ऐसा करने के लिये कहते हैं. वहां के लोगो का मानना है कि ऐसे अपने घर की लड़कियों को बिना कपड़ो के अपने-अपने खेतों में भेजने से बारिश के देवता को शर्मिंदा किया जाता है. ताकि मानसून बारिश के लिये देवता को मजबूर किया जा सके.

वहां पर कईं सालों से ढंग से बारिश नहीं हुई और इस कारण उनकी फसल खराब होती जा रही है, वहां के लोगों का दृढ़ निश्चय है कि जब तक ढंग से बारिश नहीं होगी, तब तक ये प्रथा जारी रखेंगे.