सरस सलिल विशेष

फ्लर्टिंग बड़ी दिलचस्प चीज है. खासकर जब आप आंखों-आंखों में फ्लर्ट करने की कोशिश करें. अब जरा सोचिए कि क्या कभी आपने अपने प्यार को या कहें अपने क्रश को दूर से घूरा है? क्या आपने कभी दूर से ही उसके साथ आंखों से संपर्क साधने की कोशिश की है? क्या कभी अपने प्यार को तब तक देखा है जब तक उसके चेहरे पर मुस्कुराहट न आए जाए या फिर वह शर्माने न लगे? क्या ये सारी बातें आपके मन में रोमांच नहीं पैदा करती हैं?

बहरहाल आप ऐसे अकेले व्यक्ति नहीं हैं जो आंखों-आंखों में फ्लर्ट करते हुए संकोच महसूस करते हैं. आपकी तरह तमाम ऐसे लोग हैं जो अपने क्रश को एकटक निहार नहीं पाते. असल में दूसरों की आंखों में घूरना जबरदस्त भाव है. यह न सिर्फ सकरात्मक प्रभाव छोड़ता है वरन यह आपको नकारात्मकता की ओर भी ले जा सकता है. अब कविता की बात सुनें. कविता कहती है कि मैं पिछले दिनों पार्टी में गयी थी जहां एक लड़का मुझे एकटक घूर रहा था. मैंने पार्टी के मेजमान से उसकी शिकायत की जिसके बाद उस लड़के को पार्टी से निकाल बाहर कर दिया गया.

आंखों-आंखों में देखकर फ्लर्ट करना दिलचस्प तो है साथ ही अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए प्रभावशाली भी है. हैरानी की बात यह भी है कि यदि आप आंखों-आंखों में फ्लर्ट नहीं करेंगे तो आपके रिश्ते को पिक अप मिलने में मुश्किलें भी आ सकती हैं. बहरहाल इस लेख में आंखों-आंखों में फ्लर्ट के पीछे छिपे विज्ञान पर चर्चा करेंगे.

दूसरों को खुश करना

आप चाहें फ्लर्ट करें या न करें यदि आप अपने क्रश को मुस्कान देते हुए एकटक निहारते हैं तो उस  पर सकरात्मक असर पड़ता है. असल में यह उसे खुश करने का एक तरीका भी है. इससे वह आपके बारे में अच्छा सोचने के लिए बाध्य होती है. यही नहीं वह आपके पास आ भी सकती है या फिर उम्मीद करती है कि आप उसके पास जाएं.

दूसरों को पढ़ने की कोशिश

आंखों-आंखों में संपर्क कर फ्लर्टिंग करने से दोनों एक दूसरे को जानने की कोशिश भी करते हैं. यही नहीं एक दूसरे के प्रति आलोचनात्मक रुख भी इख्तियार करते हैं. दरअसल आंखों-आंखों में संपर्क करना कोई सहज क्रिया नहीं है. मन में चोर हो तो भी आंखों में आंखें डालकर संपर्क नहीं किया जा सकता है. अतः यह पुरुष और महिला दोनों को एक दूसरे के लिए प्रति न्यायपरख बनाता है और एक दूसरे को जानने में मदद भी करता है.

विश्वसनीय बनाता है

क्या आप जानते हैं कि जिसे आप प्यार करते हैं या जिस पर आपका क्रश है, यदि आप उसे एकटक निहारते हैं तो यह आप दोनों का विश्वास भी बढ़ाता है. दरअसल जब आप अपने क्रश को एकटक देखते हैं तो इससे उसे यकीन होने लगता है कि आपकी दीवानगी उसके प्रति है. ऐसा ही पार्टनर के साथ भी होता है. यदि आप प्यार करते हुए अपने पार्टनर की आंखों में आंखें डालकर बातें करते हैं तो प्यार मजबूत होता है साथ ही विश्वास भी दुगाना हो जाता है.

लीडर बनाता है

यदि आप अपने पार्टनर की ओर बिना पलक झपकाएं देखते हैं तो समझ जाइये कि आपमें लीडर बनने वाले गुण हैं. इसका मतलब यह नहीं है कि आप उसे देखते हुए उसे असहज महसूस कराते हैं. शायद आपको पता नहीं है कि दुनिया के तमाम बड़े लीडर हमेशा आंखों में आंखें डालकर बातें करते हैं. दरअसल आंखों में आंखें डालकर बातें करने से उत्साह बढ़ता है, आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है और आत्मविश्वास बढ़ता है. ऐसा ही तमाम रिलेशन में भी होता है और आपका क्रश भी इससे अछूता नहीं रह सकता है.

हथियार भी है

आंखों-आंखों में देखकर आप सामने वाला का आत्मविश्वास हिला सकते हैं. यदि आपकी ओर कोई गंदी नजरों से देख रहा है या फिर वह आपको छेड़ने की कोशिश कर रहा है तो जरूरी है कि कुछ देर आप भी उसे घूरें. ध्यान रखें कि आपकी नजर में विरोध, आक्रामक और गुस्सा होना चाहिए. यदि आपकी आंखों में दयनीयता होगी तो वह कभी भी आपको घूरना बंद नहीं करेगा वरन उसका हौसला और बढ़ जाएगा. इसके अलावा आंखों-आंखों में घूरना एक तरह का हथियार भी है. यदि आपका क्रश आपको किसी चीज के फोर्स करता है तो आपके एकटक निहारने से वह फोर्स नहीं कर पाएगा. वह जान जाएगा कि आप जो नहीं पसंद, सो नहीं पसंद.

मीठी यादें

आंखों-आंखों में फ्लर्टिंग करने से कुछ मीठी यादें भी जुड़ जाती है. जी, हां! जहां एक ओर आंखों-आंखों में फ्लर्टिंग करना आत्मविश्वास बढ़ाना, विश्वास पैदा करना, सम्मान बढ़ाना आदि है तो वहीं दूसरी ओर इसके जरिये कुछ मीठी यादें भी जुड़ जाती है. दरअसल आंखों-आंखों में फ्लर्ट करने से दोनों पार्टनर एक दूसरे के साथ छुटपुट शरारतें कर सकते हैं, एक दूसरें के साथ छेड़छाड़ कर सकते हैं. ये तमाम बातें मीठी यादों में शुमार हो जाते हैं.

VIDEO : समर स्पेशल कलर्स एंड पैटर्न्स विद द डिजिटल फैशन

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.