सरस सलिल विशेष

एक शोध के मुताबिक, प्रतिदिन ऑर्गज्म करने से एक आदमी 20 प्रतिक्षत तक प्रोस्टेट कैंसर का रिस्क कम कर सकता है. शोध के मुताबिक जो मर्द नियमित रुप से वीर्यपात करते हैं उन्हें मुश्किल से ही इस तरह का कैंसर होता है.

हालांकि हारवर्ड मेडीकल स्कूल के शोधकर्ताओं ने कोई साफ वजह नहीं दी है कि ऐसा करने से  कैंसर का रिस्क कैसे कम होता है लेकिन पहले दी गई थ्योरी में ये बताया गया है कि लगातार ऑर्गज्म करने से प्रोस्टेट में कैंसर पैदा करने वाले कैमिकल्स बाहर निकल जाते है.

वहीं दूसरी थ्योरी में ये बताया गया है कि लगातार ऑर्गेज्म करने से पुराने सेल्स, जिनसे कैंसर का खतरा रहता है, वो बाहर निकल जाते है और नए सेल्स को पनपने में आसानी होती है.

प्रोस्टेट एक छोटे आकार की ग्रंथी होती हो जो आदमी के लिंग और मूत्राशय के बीच पाई जाती है. इसका काम गाड़ा सफेद तरल पदार्थ पैदा करना होता है जो अंडकोष से पैदा किए गए शुक्राणु से मिलकर वीर्य बनाता है.

शोधकर्ताओं के मुताबिक 40-49 की उम्र के मर्द अगर प्रति माह 21 या इससे ज्यादा बार वीर्यपात करते है तो उनमें प्रोस्टेट कैंसर का रिस्क 22 प्रतीक्षत कम होता है.

इसकी तुलना उन मर्दो से की गई थी जो एक महीने में 4 से 7 बार वीर्यपात करते है.