उम्र की ढलान में सैक्स क्षमता कम नहीं होती बल्कि युवावस्था में स्वस्थ जीवनशैली और सैक्स सक्रियता के चलते आप बुढ़ापे में भी जीवनसाथी के साथ यौनसुख की चरम सीमाएं पार कर सकते हैं.