सरस सलिल विशेष

सवाल
मैं एक 20 वर्षीय युवती हूं. मेरा मन सैक्स करने का करता है. ऐसा कोई उपाय बताएं जिस से सैक्स की फीलिंग न हो?

जवाब

सैक्स की फीलिंग नौर्मल फीलिंग है, लेकिन आप की समस्या से लगता है कि आप इस के बारे में बहुत ज्यादा सोच रही हैं. आप अपनी लाइफस्टाइल में कुछ चेंज करें. फ्रैंड सर्कल में ऐसी फ्रैंड्स के साथ कम रहें जो केवल सैक्स से संबंधित बातें ही करती हों. पौर्न साइट्स न देखें, हैल्दी मनोरंजन से भरपूर किताबें पढ़ें. जैसे ही आप का ध्यान इस ओर डाइवर्ट होने लगे, स्वयं को कहीं और व्यस्त कर लें. सुधार दिखने पर आप को अच्छा लगेगा.

तमाम अध्ययन के बाद यह माना गया है कि दिमाग में आने वाले अश्लील विचार स्वभाविक हैं. अकसर इंसान निरंतर आने वाले इन ख्यालों से बेहद परेशान हो जाता है और उसे लगता है कि इसमें उसी की कोई भूल है जो वह इस प्रकार के विचारों से अपना पिंड नहीं छुड़ा पा रहा है. दूसरी ओर जब यह ख्याल व्यक्ति के काम में भी दखल देते हैं, तब वह खुद को इन्हें रोकने से असमर्थ होने की अवस्था में खुद को ही कोसता है.

परंतु इसमें व्यक्ति को स्वयं को ही दोषी मानना ठीक नहीं है. वैज्ञानिक एवं सामाजिक दोनों पहलू से अश्लील विचार आना महज एक प्रकार के स्वभाव का हिस्सा है. विशेषज्ञों के अनुसार जब कभी बार-बार आने वाले ऐसे विचार व्यक्ति को उत्तेजित करते हैं, तो कई बार वह अंदर से क्रोधित महसूस करता है. उसे लगता है कि शायद उसमें ही कोई कमी है जो वह ऐसे अश्लील विचारों से खुद को बाहर नहीं निकाल पा रहा है.