अमेरिकी राष्ट्रपति अपने अहंकार की तुष्टि के लिए किम पर मेहरबान दिखे. उन्हें नहीं पता कि उन्होंने अपने देश का कितना नुकसान कर लिया. संयुक्त वक्तव्य की भाषा भी पिछले वक्तव्यों की तुलना में लचर दिखी.