इंश्क के मंजर में अब और न तड़पाइए, भर कर अपनी बांहों में खूब प्यार कीजिए.