किरन और अवनीश एकदूसरे को प्यार करते थे, लेकिन यह बात उस के पिता मुन्नीलाल और भाई को पसंद नहीं थी. जब उन्होंने किरन से अवनीश के खिलाफ गवाही देने को कहा तो उस ने इनकार कर दिया.