सोनिया पर कुलविंदर के प्यार का ऐसा नशा चढ़ा था कि उसने मां की नहीं सुनी, बल्कि वह खुश थी कि मां को उस के और कुलविंदर के प्यार के बारे में पता चल गया था.