सरस सलिल विशेष

आतंक पर शिकंजा कसते हुए राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने हिजबुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन के बेटे शाहिद यूसुफ को गिरफ्तार कर लिया है. वैश्विक आतंकी व संयुक्त जिहादी काउंसिल के अध्यक्ष सलाहुद्दीन के बेटे पर अपने पिता के नाम पर आतंकी फंडिग के लिए पैसा लेने का आरोप है.

सलाहुद्दीन पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में रहता है. एनआईए ने बताया कि 42 वर्षीय शाहिद जम्मू कश्मीर सरकार के कृषि विभाग में कार्यरत है. उसे पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया गया था. बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

चोरी छिपे पैसा मंगाता था

एनआईए के मुताबिक यूसुफ को आतंकवादी गतिविधियों के लिए विदेश से हवाला के जरिए रकम मंगाने के 2011 के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है. शुरुआती जांच में इस बात के सबूत मिले हैं कि यूसुफ सीरिया में रहने वाले गुलाम मोहम्मद भट के जरिए 2011 से 2014 के बीच चोरी छिपे पैसे मंगाता रहा था. इन पैसों का इस्तेमाल भारत में आतंकी गतिविधियों के लिए किया गया.

एनआईए पुराने मामलों की जांच कर रही

एनआईए ने अप्रैल 2011 में यह मामला दर्ज किया था. यह पाकिस्तान से दिल्ली के रास्ते जम्मू कश्मीर में रकम के स्थानांतरण से जुड़ा मामला है. एनआईए अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के सहयोगी जी एम भट, मोहम्मद गनई, गुलाम जीलानी के खिलाफ आरोपपत्र दायर कर चुकी है.

सऊदी अरब में रह रहे भगोड़े से शाहिद यूसुफ के संबंध

एनआईए के मुताबिक शाहिद को अंतरराष्ट्रीय मनी ट्रांसफर माध्यमों के जरिए एजाज अहमद भट से रकम प्राप्त हुई. एजाज भगोड़ा आरोपी है और सऊदी अरब में रह रहा है. शाहिद भट के कई भारतीय संपर्को में से एक है, जो मनी ट्रांसफर कोड के जरिए मोबाइल फोन से संपर्क में रहता था.