सरस सलिल विशेष

‘‘एक दिन रात के 10 बजे एक डाक्टर जब अपना क्लिनिक बंद कर के घर लौट रहे थे, तो रास्ते में उन्होंने देखा कि एक लड़की के साथ कुछ लफंगे जबरदस्ती कर रहे थे. वह लड़की ‘बचाओबचाओ’ चिल्ला रही थी. डाक्टर ने उस लड़की की मदद करने के मकसद से अपनी कार रोकी. कार के रुकते ही लफंगे भाग खड़े हुए.

डाक्टर ने उस लड़की की हिम्मत बंधाते हुए कहा, ‘‘कहां जाना है आप को? चलो, मैं छोड़ देता हूं.’’

वह लड़की तैयार हो गई. पर कुछ देर बाद ही उस लड़की ने शोर मचाना शुरू कर दिया. डाक्टर सकते में आ गए.

लड़की ने कहा, ‘‘आप मुझे 5 हजार रुपए दें, वरना मैं अपने कपड़े फाड़ लूंगी और आप पर इलजाम लगा दूंगी कि आप मुझे लिफ्ट देने के नाम पर मेरे साथ जबरदस्ती कर रहे थे.’’

डाक्टर ने 5 हजार रुपए दे कर उस लड़की से अपना पीछा छुड़ाया.

*  ‘‘भाई साहब, जरा रुकिए…’’ अंधेरी रात में मोटरसाइकिल पर जा रहे एक नौजवान को जब किसी लड़की ने पुकारा, तो उस ने जोर से ब्रेक लगा कर अपनी मोटरसाइकिल रोक दी और पूछा, ‘‘कहिए?’’

उस लड़की ने रोते हुए कहा, ‘‘मेरा भाई बहुत बीमार है. मुझे जल्दी घर पहुंचना है. मेरी मदद कीजिए. आप मुझे घर तक छोड़ देंगे, तो भगवान आप का भला करेगा.’’

यह सुन कर वह नौजवान पसीज गया और अपनी मोटरसाइकिल पर उसे लिफ्ट दे दी.

वह नौजवान जब रास्ते पर आगे बढ़ा, तो सुनसान इलाका आते ही एक मोटरसाइकिल पर सवार 2 लड़के पीछे से आए और आगे आ कर उन का रास्ता रोक लिया.

उन दोनों लड़कों ने उस नौजवान की कनपटी पर पिस्तौल लगा कर कहा, ‘‘किधर ऐश करने जा रहा है?’’

वह लड़की मोटरसाइकिल से उतर कर कुछ दूरी पर चुपचाप खड़ी रही… उस के साथी लुटेरों ने पिस्तौल अड़ा कर उस नौजवान की जेब से सारे रुपएपैसे व सोने की चेन व अंगूठी झपट ली और उस की मोटरसाइकिल की हवा निकाल दी.

उस गैंग में शामिल वह लड़की अपने साथियों की मोटरसाइकिल पर बैठ कर भाग गई.

* उस दिन घनघोर बादल छाए हुए थे और मूसलाधार बारिश हो रही थी. एक जौहरी अपनी दुकान बंद कर घर लौट रहे थे. रास्ते में उन्हें किसी का ऐक्सिडैंट होता दिखाई दिया. उन्होंने अपनी कार रोकी तो देखा कि एक लड़की बेहोश पड़ी थी.

वे जौहरी कार से उतरे और उस लड़की को अपनी कार में डाल कर अस्पताल ले जाने लगे.

थोड़ी दूर जाने के बाद ही वह लड़की ऐसे उठ बैठी, जैसे कुछ हुआ ही न हो. वह तो बेहोशी का नाटक कर रही थी.

सरस सलिल विशेष

उस लड़की ने जौहरी से कहा, ‘‘तुम्हारे पास जोकुछ रुपयापैसा, जेवर है, चुपचाप मेरे हवाले कर दो, वरना मैं शोर मचा दूंगी कि तुम ने मेरे साथ जबरदस्ती की है. फिर सारी जिंदगी जेल की चक्की पीसते रहना.’’

* एक लड़की ने एक पैसे वाले लड़के को फांस लिया. वैसे, उसे मालूम था कि उस लड़के की सगाई हो चुकी है और कुछ महीने बाद उस की शादी होने वाली है. लड़का भी उस लड़की के झांसे में आ गया.

लड़की ने लड़के को जिस्मानी संबंध बनाने के लिए उकसाया और मोबाइल फोन में उन पलों को कैद कर लिया. इस के बाद उस ने लड़के पर दबाव बनाया कि वह उसे 5 लाख रुपए दे, वरना वह यह वीडियो क्लिप उस की मंगेतर के पास भेज देगी. लड़के को मजबूर हो कर उसे पैसे देने पड़े.

आमतौर पर औरतों व लड़कियों को छलकपट से दूर ममतामयी माना जाता है, लेकिन इस की आड़ में कुछ शातिर औरतें व लड़कियां स्वांग रच कर मर्दों को अपने जाल में फांसती हैं.

किसी भी लड़की या औरत के माथे पर लिखा नहीं होता कि वह कैसी है. मर्द भावुक हो कर मदद का हाथ बढ़ाते हैं, बदले में मिलता है धोखा, इसलिए किसी भी अनजान लड़की या औरत को लिफ्ट देने या उस पर हद से ज्यादा यकीन करने से बचें. साथ ही, आप उस से चौकस रहें, वरना आप हवालात में होंगे और वह आप का तमाशा बनते देख मुसकरा रही होगी.