भोजपुरी फिल्मों में काम करने वाले ज्यादातर हीरो पहले गायक होते हैं, बाद में वे ऐक्टिंग करते हैं, पर उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के रहने वाले यश कुमार शुद्ध रूप से ऐक्टिंग करने वाले कलाकार हैं. साल 2014 में उन की पहली फिल्म ‘दिलदार सांवरिया’ रुपहले परदे पर आई थी. इस के बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा. 2 साल में ही वे कई कामयाब फिल्में कर चुके हैं. इन में ‘राजाजी आई लव यू’, ‘दिल लागल दुपट्टा वाली से’, ‘दरियादिल’, ‘सपेरा’, ‘बलम रसिया’, ‘लागी तोहसे लगन’, ‘हीरो गमछा वाला’ और ‘इच्छाधारी’ खास हैं.

आज अपनी मेहनत से यश कुमार ने भोजपुरी सिनेमा में ‘ऐक्शन किंग’ के रूप में अपनी पहचान बना ली है. पेश हैं, उन से हुई बातचीत के खास अंश:

कितनी जद्दोजेहद के बाद आप को कामयाबी मिली?

इस को बताना तो बहुत मुश्किल है. मुझे ऐक्टिंग का शौक स्कूल के समय से ही था. यह बात जब मेरे घर वालों को पता चली, तो वे नाराज हुए. फिल्मों में काम करने का उन की नजर में कोई कैरियर नहीं था.

अपनी इच्छा पूरी करने के लिए मैं साल 2002 में अपने घर से 150 रुपए ले करमुंबई चला गया. वहां जाना आसान काम था, पर काम मिलना बहुत ही मुश्किल था.

मुंबई में अपना खर्च उठाने के लिए मैं ने कई काम किए. इन में सब से बड़ा काम योग क्लास शुरू करने का था. यहीं से मौडलिंग का भी काम मिलने लगा.

साल 2012 में जब मुझे पहली फिल्म मिली और वह कामयाब रही, तो नई पहचान बनी.

अब आप के घरपरिवार के लोगों का बरताव कैसा है?

पहली फिल्म ‘दिलदार सांवरिया’ के बाद तो एक पहचान बन गई थी. अब तो कई फिल्मों की शूटिंग करने अपने शहर बलिया और आसपास जाना होता है. लोग मिलने आते हैं, मेरे काम की बहुत तारीफ करते हैं, जिसे सुन कर खुशी होती है.

आप का भोजपुरी फिल्मों में दूसरे कलाकारों के साथ मुकाबला कैसा है?

भोजपुरी फिल्मों का चलन अलग है. यहां गायक ही हीरो होता है. ऐसे में मेरे लिए पहचान बनाना आसान नहीं था. मैं ने अपनी ऐक्टिंग और ऐक्शन के बल पर नई शुरुआत की है, जिस से अब गायक के अलावा भी दूसरे कलाकार सोच सकते हैं कि मेहनत के बल पर भी यहां जगह बनाई जा सकती है.

किस हीरोइन के साथ आप की जोड़ी सब से अच्छी लगती है?

भोजपुरी फिल्मों में हीरोहीरोइन की जोड़ी बनाने का काम होता है. एक ही हीरोहीरोइन के साथ कईकई फिल्में बनती हैं. मैं ने इस से अलग सभी हीरोइनों के साथ काम किया.

कमाल की बात यह है कि सब के साथ मेरी जोड़ी को दर्शकों का पूरा प्यार मिला. रानी चटर्जी, अंजना सिंह, काजल राघवानी, पूनम दुबे सभी के साथ मेरी फिल्में हिट हुई हैं.

लोग आप को ऐक्शन हीरो के रूप में जानते हैं. ऐसे में आप के किसिंग सीन भी चर्चा में रहते हैं. इसे कैसे निभाते हैं?

काजल के साथ मेरे किसिंग सीन की बहुत चर्चा हुई. सही बात यह है कि ऐसे सीन कहानी की डिमांड पर होते हैं. इन को फिल्माने के अपने तरीके होते हैं. ऐसे सीन मेरे लिए ऐक्शन सीन करने से ज्यादा मुश्किल होते हैं.

आप का टारगेट क्या है?

मैं अपने चाहने वालों का मनोरंजन करना चाहता हूं. इस के लिए उन की पसंद की फिल्मों को करना है. मेरा भी टारगेट है कि हिंदी फिल्मों में ऐक्टिंग करूं. दर्शक अच्छे कलाकार के रूप में मुझे जानें.

VIDEO : करीना कपूर मेकअप लुक फ्रॉम की एंड का मूवी

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

COMMENT