सरस सलिल विशेष

फिल्म ‘पोस्टर बौयज’ मराठी में बनी बिल्कुल इसी नाम की फिल्म पर आधारित है, जो कि 8 सितंबर को सिनेमा घरों में आने वाली है.

बौलीवुड के मशहूर अभिनेता सनी देओल से, जब मीडिया ने उनकी फिल्म ‘पोस्टर बौयज’ के ट्रेलर लॉन्च के मौके पर ‘नेपोटिज्म’ यानि कि वंशवाद को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा उन्हें इस शब्द के बारे में ही, कुछ नहीं पता तो वे कोई टिप्पणी कैसे कर सकते हैं.

नेपोटिज्म जिसे सरल भषा में आप भाई-भतीजावाद भी कर सकते हैं, इन दिनों बौलीवुड में खूब छाया हुआ है. पहले करण और कंगना के बीच नेपोटिज्म को लेकर हुई बातचीत से बवाल मचा था और अभी कुछ दिन पहले आईफा 17 में करण जौहर, वरुण धवन और सैफ अली खान द्वारा परफॉर्म किए गए एक्ट में नेपोटिज्म को लेकर कंगना का मजाक उड़ाया गया था जिसके बाद यह मुद्दा फिर से उठा.

जब इस बार में सनी देओल से नेपोटिज्म पर राय मांगी गई तो उन्होंने तो शब्द का अर्थ नहीं मालूम होने की बात कही. सनी अपनी फिल्म ‘पोस्टर बौयज’ के ट्रेलर लॉन्च के मौके पर मौजूद थे. सनी देओल कहते हैं, ‘यह कौन सा शब्द है’.

वहीं इस सवाल पर अभिनेता बौबी देओल ने कहा, ‘इसका मतलब क्या हुआ.’ गौरतलब है कि फिल्म ‘पोस्टर बौयज’ नसबंदी के विषय पर आधारित है. फिल्म का निर्देशन फिल्म अभिनेता श्रेयस तलपडे ने किया है.

इस फिल्म में जहां बौबी देओल हिंदी के प्राध्यापक बने हैं और शुद्ध हिंदी में अपने डायलॉग बोलते हैं. वही सनी देओल के डायलौग में सीधे साधे व्यक्ति का अंदाज नजर आता है. फिल्म के ट्रेलर लौन्च के मौके पर मशहूर फिल्म अभिनेता और बौबी व सनी के पिता धर्मेन्द्र भी उपस्थित थे.

हालांकि वे फिल्म में नजर आएंगे. उन्होंने इस बात को लेकर खुशी जताई कि आज उनके दोनों बेटे फिल्म अभिनेता होने के साथ अच्छे व्यक्तित्व के धनी भी हैं. फिल्म ‘पोस्टर बौयज’ मराठी में बनी इसी नाम की फिल्म पर आधारित है जो 8 सितंबर को रिलीज होने वाली है.