सरस सलिल विशेष

स्टार बन जाना बहुत आसान है लेकिन सीन में ढलना और कहेनुसार सीन करना वाकई टेढ़ा काम है. कई बार शूट करने में सितारों को चोट लग जाती है और कई बार वो असहज हो जाते हैं लेकिन शूटिंग नहीं रुकती. ऐसा ही एक वाक्या अपने जमाने की टॉप की हीरोइन मौसमी के साथ घटा था. मौसमी चटर्जी उस वक्त टॉप की हीरोइनों में शुमार थीं और इसकी वजह थी हर किरदार को तल्लीनता के साथ निभाना. लेकिन अपने करियर में उन्हें एक ऐसा सीन करने को मिला जिसने उन्हें रुला ही दिया.

फिल्म थी ‘रोटी कपड़ा और मकान’. मनोज कुमार के लीड रोल वाली इस फिल्म में मौसमी के साथ एक रेप सीन शूट होना था. उस वक्त मौसमी चटर्जी प्रेग्नेंट थीं और तबियत भी ठीक नहीं रहती थी. इसलिए मौसमी इस बात को लेकर चिंता में थीं कि आखिर ये रेप सीन वो शूट कैसे करेंगी. चूंकि सीन फिल्म के लिए बहुत जरूरी था इसलिए मना भी नहीं कर सकतीं थी. इसलिए मौसमी चटर्जी ना चाहकर भी उस रेप सीन को करने के लिए तैयार हो गईं. लेकिन इस सीन की वजह से उनकी हालत खराब हो गई थी.

दिन भी आ गया और माहौल भी तैयार किया गया. इस सीन को आटे के एक गोदाम में शूट किया जाना था. सीन के मुताबिक विलेन को मौसमी चटर्जी का ब्लाउज उतारना था जबकि बाकी गुंडे उन्हें पकड़कर रखने वाले थे. इसी खींचा-तानी के दौरान मौसमी के पूरे शरीर पर खूब सारा आटा गिर गया. आटा ना सिर्फ उनके मुंह में भर गया बल्कि बालों में भी चिपक गया.

अब जैसे-तैसे सीन तो शूट हो गया और निर्देशक को भी खूब पसंद आया, लेकिन इसके बाद मौसमी घर जाकर खूब रोईं. आटा मुंह में जाने की वजह से उनकी तबियत बिगड़ गई और खूब उल्टियां हुईं. देर रात तक मौसमी चटर्जी की नौकरानी उनके बालों में चिपके आटे को ही निकालती रही. मौसमी चटर्जी की हालत इतनी बिगड़ गई थी कि फिल्म का जो गाना उन पर फिल्माया जाना था उसे जीनत अमान पर फिल्माया गया. हालांकि मौसमी चटर्जी की मानें तो उनके प्रेग्नेंट होने की वजह से उस गाने में जीनत को लिया गया.