दलित और निम्न मध्यवर्ग से आई अभिनेत्री उषा जाधव आज मराठी, हिंदी फिल्म जगत में भले ही बड़ा नाम बन चुकी हैं लेकिन यहां तक पहुंचने के सफर में उन्हें सामाजिक भेदभाव, जातिगत पूर्वाग्रहों व संघर्षों से जूझना पड़ा है.