सरस सलिल विशेष

डायरेक्टर, राइटर महेश भट्ट का अंदाज-ए-बयां अल्हदा है, जो उन्हें दूसरों से अलग करता है. उनका अपने लिखे को कहना एक सम्मोहन के समान है, जो कम डायरेक्टरों में दिखता है. मगर इस अल्हदा डायरेक्टर के साथ एक अन्य कहानी भी जुड़ी है. जोकि उनके व्यक्तित्व को अन्य डायरेक्टरों से अलग करती है. दरअसल, यहां महेश भट्ट और परवीन बॉबी की अधूरे अमर प्रेम की चर्चा हो रही है, जो लोगों के दिलों में एक फिल्म की तरह जिन्दा है.

वह फिल्म जिसमें प्रेमिका, परवीन बॉबी की ज़ान चली गई थी. और उनकी याद में महेश भट्ट अब भी अपने उस हसीं दौर को याद करते हैं. भट्ट साहब का वह दौर जब उन्होंने दो पत्नियों के बावजूद, परवीन बॉबी के साथ इश्क खत्म नहीं किया था. मगर एक मोड़ में उन दोनों के प्यार को अलग होना पड़ा, तो वह मोड़ कहां आया, उसके लिए पढ़ते हैं महेश भट्ट और परवीन बॉबी के अधूरे प्रेम की यह कहानी.

उन दिनों परवीन बॉबी टॉप की अदाकारा थी और उनका कबीर बेदी से ब्रेकअप हुआ था. हालांकि ब्रेकअप के बावजूद, परवीन शादीशुदा महेश भट्ट को दिल दे चुकी थी. परवीन पर महेश के प्यार का खुमार इस तरह चढ़ा था कि उन्हें लिव-इन में रहना भी गलत नहीं लगा. जबकि यह कहा जा रहा था कि महेश, परवीन के साथ उनके स्टारडम की वजह से हैं.

हालांकि, सूत्रों के मुताबिक वे दोनों जब प्यार मे हुआ करते थे तो स्टारडम पीछे रह जाता था. महेश भट्ट और परवीन बॉबी के प्रेम ने कई वर्षों तक सांस ली, मगर परवीन बॉबी की खराब हालत के कारण, महेश ने परवीन से दूरी बनाना शुरू कर दी थी. जिससे परवीन बॉबी मानसिक रोगी हो गई थी. वह अपने आपको मारने की कोशिश भी करती थी.

महेश भट्ट ने एक साक्षात्कार में कहा है कि एक बार जब वह घर पहुंचे तो परवीन ने हाथ में चाकू पकड़ रखा था और कह रही थीं कि मुझे कोई मारना चाहता है. तो उस समय मुझे परवीन की मानसिक बीमारी का पता लगा था. महेश ने आगे बताया कि वह परवीन का बहुत खराब दौर था. जब डॉक्टर ने उन्हें इलेक्ट्रिक शॉक देने की बात कही थी. महेश ने उस मुश्किल वक्त में परवीन का साथ दिया था. मगर एक वक्त आया जब महेश ने हार मानकर, परवीन को छोड़ दिया था. वह वक्त परवीन की बिगड़ती हालत ही थी. जब महेश भट्ट, परवीन को अकेला छोड़ अपनी पत्नी के पास वापस चले गए थे .

हालांकि, महेश और परवीन की यह अधूरी कहानी अब तक लोगों के जेहन में यादगार बनी है. क्योंकि महेश भट्ट ने अर्थ फिल्म में अपने और परवीन की अधूरी प्रेम कहानी को बयां किया था, जोकि परवीन संग महेश भट्ट के अधूरे रहे प्रेम का साक्ष्य हैं.