सरस सलिल विशेष

‘जंपिंग जैक’ के नाम से पॉपुलर जितेंद्र 75 साल के हो चुके हैं. जितेंद्र का असली नाम रवि कपूर है. उन्होंने साल 1974 में अपनी लॉन्ग टाइम गर्लफ्रेंड शोभा कपूर से शादी की थी. हालांकि बेहद कम लोग ही ये जानते हैं कि जितेंद्र की नजदीकियां कभी हेमा मालिनी से भी थीं. यहां तक कि वो अपनी मंगेतर शोभा को छोड़ उनसे शादी करने वाले थे लेकिन ऐन मौके पर धर्मेंद्र दोनों के बीच आ गए.

फिल्म ‘दुल्हन’ की शूटिंग के दौरान जितेंद्र, हेमा मालिनी को दिल दे बैठे. दोनों ने शादी करने का फैसला भी कर लिया था. जब इस बात की भनक जितेंद्र की मंगेतर और बचपन की दोस्त शोभा कपूर को लगी तो उन्होंने धर्मेंद्र को हेमा को समझाने की जिम्मेदारी सौंपी. नतीजा ये हुआ कि ये शादी रुक गई. ये अलग बात है कि बाद में खुद धर्मेंद्र ने हेमा के साथ दूसरी शादी की.

शोभा कपूर जब 14 साल की थीं तब जितेंद्र को उनसे प्यार हो गया था. उस वक्त जितेंद्र बॉलीवुड स्टार नहीं थे. जब जितेंद्र बॉलीवुड में अपनी किस्मत आज़मा रहे थे उसी वक्त शोभा ब्रिटिश एयरवेज में कम कर रही थीं. जॉब की वजह से शोभा को अक्सर विदेश में रहना पड़ता था और वो चाह कर भी जीतू से नहीं मिल पाती थीं.

फिल्मों में सक्सेस मिलने के बाद 1973 में जीतू और शोभा की शादी की डेट फिक्स हुई थी. लेकिन जितेंद्र के पिता की तबीयत खराब होने की वजह से दोनों की शादी टल गई. इसी बीच हेमा, जितेंद्र की लाइफ में आ गईं. लेकिन कई मुसीबतों का सामना करते हुए आखिरकार 18 अक्टूबर, 1974 को जितेंद्र और शोभा शादी के बंधन में बंध गए. दोनों के दो बच्चे एकता और तुषार हैं.

करीब 200 फिल्मों में काम कर चुके जितेंद्र को फिल्मों में सबसे पहला ब्रेक फिल्ममेकर वी. शांताराम ने दिया था. 1964 में आई इस फिल्म का नाम था ‘गीत गाया पत्थरों ने’. जितेंद्र ने अपने करियर में जीने की राह, मेरे हुजूर, फर्ज, हमजोली, कारवां, धरमवीर, परिचय, खुशबू, तोहफा और हिम्मतवाला जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया है.