कई अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह में पुरस्कृत फिल्म ‘‘गली गुलियां’’ में मनोज बाजपेयी, नीरज कबि, शहाना गोस्वामी के साथ एक प्रतिभाशाली बाल कलाकार ओम सिंह ने भी अभिनय किया है, जिन्हें इसी फिल्म के लिए चार सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार के पुरस्कार मिल चुके हैं.

बाल कलाकार ओम सिंह ने फिल्म ‘‘गली गुलियां’’ में इदरीस नाम के एक मुस्लिम बालक का किरदार निभाया है, जिसमें बालक के पिता उन्हें पीटते रहते हैं. मजेदार बात यह है कि इदरीस के किरदार के लिए फिल्म के निर्देशक दीपेश जैन ने एक दो नहीं बल्कि 2500 बालकों का औडीशन लेने के बाद ओम सिंह को चुना था. निर्देशक दीपेश जैन को ओम सिंह दिल्ली के एनजीओ ‘‘सलाम बालक ट्रस्ट’’ में मिला था. बाल शोषण का शिकार ओम सिंह को ‘‘सलाम बालक ट्रस्ट’’ में शरण मिली थी. रोज रोज की हिंसा से घबराकर ओम सिंह अपने घर से भागा था. इसलिए ओम सिंह से कई बार बात करने के बाद दीपेश जैन को उनकी फिल्म की कहानी के लिए कुछ आवश्यक जानकारियां भी मिली. फिल्म के लेखक व निर्देशक दीपेश जैन ने अपनी फिल्म में पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के बारे में भी लिखा है, जहां पर घर से भागने के बाद ओम सिंह ने कई रातें बितायी थी.

फिल्म के निर्देशक दीपेश जैन और अभिनेता मनोज बाजपेयी के अनुसार इस फिल्म में इदरीस का किरदार निभाते हुए ओम सिंह ने अपनी निजी जिंदगी के अनुभवों को ही परदे पर साकार किया है.

COMMENT