सरस सलिल विशेष

सिनेमा से जुड़े लोगों के लिए ‘‘कान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’’ कुंभ माना जाता है. ‘कान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’ में पूरे विश्व का सिनेमा व फिल्मकार जुटता है. भारतीय सिनेमा से जुड़ा हर इंसान किसी न किसी तरह कान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का हिस्सा बनना चाहता है. मगर ‘शाहिद’, ‘अलीगढ़’, ‘न्यूटन’ और ‘ओमेर्टा’ जैसी फिल्मों में अभिनय कर बतौर अभिनेता अपनी अलग पहचान रखने वाले राज कुमार राव को अब तक के अपने करियर में कभी भी ‘कान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’ में जाने का अवसर नही मिला. पर अब जब उन्हें यह अवसर मिल रहा है, तो वह कान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल नहीं जाएंगे.

वास्तव में भारतीय मूल की अमरीकन फिल्मकार नम्रता गुजराल के निर्देशन में राज कुमार राव ने एक फिल्म ‘‘ 5 वेडिंग्स’’ की है, जिसमें उनके साथ नरगिस फाखरी भी हैं. अंग्रेजी भाषा में बनी यह फिल्म भारत में ही फिल्मायी गयी है. अब ‘‘71 वें कान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’’ में फिल्म ‘‘ 5 वेडिंग्स’’ का विश्व प्रीमियर होना है, इसलिए इस फिल्म से जुड़े हर शख्स को ‘कान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’ का हिस्सा बनने का गौरव मिलने जा रहा है, मगर राज कुमार राव इस मौके का फायदा नहीं उठाएंगे.

entertainment

खुद राज कुमार राव कहते हैं- ‘‘हर कलाकार का सपना होता है, कान फिल्म फेस्टिवल का हिस्सा बनना. यह मेरी खुश किस्मती है कि मेरी फिल्म ‘फाइव वेडिंग्स’ कान फिल्म फेस्टिवल में जा रही है. पर अफसोस मैं खुद नहीं जा पाउंगा. क्योंकि उस वक्त मैं अपनी फिल्म की शूटिंग में व्यस्त रहूंगा.’’

फिल्म ‘‘ 5 वेडिंग्स’’ जीवन मृत्यु, खोए हुए प्यार, हिजड़ों, सभ्यता व संस्कृति के टकराव के साथ साथ राजनीति की भी बात करती है.

Tags: