सरस सलिल विशेष

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ शूटिंग के वक्त से ही विवादों में रही है और जैसे-जैसे फिल्म की रिलीज डेट नजदीक आई वैसे वैसे विवाद गहराता गया. फिर सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट न मिलने के कारण फिल्म की रिलीज डेट टाल दी गई. लेकिन अब ‘पद्मावती’ की रिलीज को लेकर एक बार फिर से नए सिरे से कवायद शुरू हो गई है. खबरों के मुताबिक, 27 दिसंबर को मुंबई में ‘पद्मावती’ की स्पेशल स्क्रीनिंग हो सकती है. इस स्क्रीनिंग में मेवाड़ राजघराने को फिल्म ‘पद्मावती’ दिखाई जाएगी.

बता दें कि कई राजपूत संगठनों ने फिल्म के निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली पर आरोप लगाए हैं कि उन्होंने फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की है. दीपिका फिल्म में रानी पद्मावती की भूमिका निभा रही हैं. इस वजह से विरोध कर रहे लोगों ने दीपिका और संजय लीला भंसाली को जान से मारने की धमकी तक दे दी थी.

गौरतलब है कि ‘पद्मावती’ के 3डी संस्करण का प्रमाणन संबंधी आवेदन 28 नवंबर 2017 को सीबीएफसी के समक्ष प्रस्तुत किया गया था. फिल्म चलचित्र अधिनियम 1952, चलचित्र (प्रमाणन) नियमावली 1983 तथा उसके अंतर्गत बनाए गए दिशानिर्देशों के अनुसार प्रमाणन की प्रक्रिया से गुजरेगी. इस प्रमाणन प्रक्रिया के लिए 68 दिन की समय सीमा तय की गई है.

फिल्‍म की रिलीज को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं कि ये 5 या 12 जनवरी को रिलीज हो सकती है. इससे पहले सरकार ने सोमवार को जानकारी दी थी कि केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) ने अब तक फिल्म ‘पद्मावती’ को देश में सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए प्रमाणपत्र नहीं दिया है. अब देखना ये है कि आखिर यह फिल्म कब पर्दे पर आएगी और ‘पद्मावती’ के फैंस को इसे देखने के लिए और कितना इंतजार करना पड़ सकता है.