सरस सलिल विशेष

बौलीवुड के दिग्गज एक्टर जितेंद्र मुश्किलों से घिर गए हैं. उनपर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा है, और हैरान करने वाली बात यह है कि उन पर यह आरोप किसी और ने नहीं, उनकी ही फुफेरी बहन (बुआ की बेटी) ने लगाया है. खुद को पीड़ित बताते हुए उनकी बहन ने खुलासा किया है कि जब वह 18 साल की थी और जितेंद्र 28 साल के थे, जितेंद्र ने उनके साथ इस वारदात अंजाम दिया था.

जितेंद्र की फुफेरी बहन ने उनके खिलाफ हिमाचल प्रदेश में शिकायत भी की है उन्होंने अभिनेता के खिलाफ जल्द एफआईआर दर्ज करने और गिरफ्तारी की मांग की है.

जितेंद्र के खिलाफ पीड़िता ने शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें आरोप है कि 47 साल पहले अभिनेता ने उनका यौन शोषण किया था.

VIDEO : सर्दी के मौसम में ऐसे बनाएं जायकेदार पनीर तवा मसाला…नीचे देखिए ये वीडियो

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

47 साल पुराना मामला

पीड़िता ने खुलासा किया है की 1971 में एक होटल के कमरे में जितेंद्र ने उनका यौन उत्पीड़न किया. उनका कहना है कि उस समय जितेंद्र 28 साल के थे और पीडि़ता 18 साल की. पीडि़ता के मुताबिक जितेंद्र उन दिनों शिमला में शूटिंग में व्यस्त थे जब उन्होंने यौन उत्पीड़न करने का मन बनाया था. पीडि़ता के लिए उन्होंने खुद नयी दिल्ली से शिमला आने की व्यवस्था की थी.

ऐसे बने हालात

पीडि़ता का कहना है की जब वो शिमला पहुंची तो रात हो चुकी थी और जितेंद्र नशे की हालत में धुत थे. जिस होटल में वो ठहरी थीं जितेंद्र वहां नशे में पहुंचे और उनके कमरे में आ गए. कमरे में आते ही जितेंद्र ने दो बिस्तरों को आपस में जोडा़ और उनके साथ उत्पीड़न किया. फिलहाल जितेंद्र ने अपने बयान में इस घटना को काल्पनिक बताया है और सभी आरोपों को झूठा कहा है. बता दें कि अभी जितेंद्र 75 साल के हैं और उन्होंने अपने फिल्मी करियर में एक से बढ़कर एक कई हिट फिल्में दी हैं.

इस वजह से अभी तक चुप रहीं

पीडि़ता 47 साल से इस मामले पर चुप क्यों रहीं इस पर उन्होंने कहा कि वह इतने दिनों तक इसलिए चुप रहीं क्योंकि अगर उनके मां-बाप को इस बारे में पता लगता तो उन्हें बहुत ठेस पहुंचती. अब उनके मां-बाप इस दुनिया में नहीं हैं इसलिए लंबे समय के बाद अब उन्होंने अपनी यौन उत्पीड़न की बात जगजाहिर की है. इसके अलावा ‘#Me_too’कैम्पेन ने हिम्मत दी.

‘#Me_too’ सोशल मीडिया पर एक कैम्पेन चलाया गया था जिसमें बौलीवुड़ से लेकर हर आम महिला ने हिस्सा लिया. #MeToo जैसे नारीवादी जागरूकता अभियानों के बाद बौलीवुड से लेकर हौलीवुड अभिनेत्रियों ने समय-समय पर अपने साथ हुए दुर्व्यवहार को मुखरता से रखा है. इस कैम्पेन के तहत जिस भी महिला के साथ कभी भी किसी भी तरह का उत्पीड़न हुआ हो वो अपनी सोशल वाल पर’#Me_too’ लिख कर अपना दर्द पूरी दुनिया से बांट सकती है.