सरस सलिल विशेष

अभिनेत्रियों के लिए हिंदी सिनेमा का माहौल अब पूरी तरह बदल गया है. रियल स्पेस में काम करने के लिए बॉलीवुड की कई टॉप एक्ट्रेस ने खुद की इमेज से हटकर नए रास्ते पर चलने का मन बना लिया है. ग्लैमर किरदार से हटकर सिनेमा के पर्दे पर अपनी नई पहचान बनाने के लिए इस साल बॉलीवुड की चुनिंदा एक्ट्रेस पॉजिटिव छोड़ निगेटिव या यूं कह लें कि ग्रे शेड किरदार में नजर आयेंगी. वो भी इस साल की बहुप्रतिक्षित फिल्मों में. किसी के लिए यह बदलाव करियर के लिए नया मौका है. तो किसी के लिए कमबैक का धमाकेदार रास्ता. तो कोई खुद को दोबारा से हिंदी फिल्म इंडस्टी में सेट करने की कोशिश कर रहा है.

इन सभी एक्टरों की मौजूदगी इस साल तब और जबरदस्त हो जाएगी. जब वह दमदार कहानी में सहायक नहीं बल्कि विलेन के प्रमुख रोल में नजर आयेंगी. अक्सर ऐसा कहा जाता है कि एक्ट्रेस बिग स्टार की फिल्मों में कास्ट होकर सेफ प्ले करने का आसान रास्ता अपनाती हैं. लेकिन सिनेमा के बदलते दौर ने एक्ट्रेस को रियलिस्टिक सिनेमा की नई पहचान बना दिया है. फिर चाहे वह विद्या बालन हो या फिर अनुष्का शर्मा.

गौरतलब है कि इस साल रोमांटिक इमेज से हटते हुए यामी गौतम, सोनाक्षी सिन्हा, काजोल और श्रद्धा कपूर मस्ट वॉच इमेज के साथ पेश होने के लिए तैयार हैं. आइए जानते हैं कि कौन सी फिल्में है और इनके निगेटिव किरदार में आने के पीछे की वजह क्या है.

सोनाक्षी सिन्हा

निर्माता शाहरूख खान की फिल्म इत्तेफाक में सोनाक्षी सिन्हा ग्रे शेड किरदार में नजर आयेंगी. पहली बार वह इस तरह की भूमिका निभा रही हैं. अभी तक केवल उन्होंने एक्शन और रोमांटिक फिल्मों में ही हाथ आजमाया है.

कहानी है यूएसपी

सोनाक्षी सिन्हा और सिद्धार्थ मल्होत्रा की यह फिल्म एक मिस्ट्री थ्रिलर होगी. ऐसा बताया जा रहा है कि इस फिल्म में थ्रिलर और एक्शन का स्तर हाई रहनेवाला है. सोनाक्षी भले ही लगातार फिल्में कर रही हैं. लेकिन अभी तक उन्होंने कोई wow फेक्टर वाली फिल्म नहीं की है.

यामी गौतम

रामगोपाल वर्मा की सरकार 3 में वह निगेटिव किरदार में दिखाई देंगी. करियर के लिहाज से यह फिल्म उनके लिए बेहद अहम है. इससे उन्हें खुद को रोमांटिक किरदार से हटकर खुद को नए तरीके से पेश करने का मौका मिलेगा.

गेम चेंजर

काबिल के पहले भी यामी केवल रोमांटिक फिल्मों में दिखाई दे रही थी. सरकार 3 का नतीजा चाहे कुछ भी हो लेकिन यामी के करियर के लिए यह फिल्म गेम चेंजर साबित हो सकती है. अपने करियर की रफ्तार आगे बढ़ाने के लिए भी उन्होंने निगेटिव भूमिका निभाने का फैसला लिया है.

श्रद्धा कपूर

हसीना : द क्वीन आफ मुंबई में श्रद्धा दाऊद इब्राहिम की बहन हसीना पारकर की निगेटिव भूमिका में नजर आयेंगी. अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के मुंबई से चले जाने और अपने पति की हत्या के बाद हसीना पारकर ने इस पूरे कारोबार की बागडोर अपने हाथों में ले ली थी. दक्षिण मुंबई के कई इलाकों में हसीना का दबदबा था.

करियर के लिए रिस्क जरूरी

साल 2010 में अपने करियर की शुरुआत तीन पत्ती से करने वाली श्रद्धा कपूर को 2013 में रिलीज हुई आशिकी 2 ने उनके करियर को एक बड़ा हिट दिया. 2016 उनके लिए निराशा भरी रही. वहीं ओके जानू को भी दर्शकों का साथ नहीं मिला. द क्‍वीन ऑफ मुंबई हसीना से उन्होंने खुद के लिए पहली बार रिस्क लिया है. मुमकिन है कि यह फिल्म श्रद्धा की इमेज के लिए गेम चेंजर साबित हो.

काजोल का कमबैक

साउथ के सुपरस्टार धनुष के साथ काजोल पहली बार स्क्रीन शेयर कर रही हैं. इस फिल्म का निर्देशन रजनीकांत की बेटी सौंदर्य ने किया है. काजोल इसमें बिजनेस वीमेन की भूमिका में दिखाई देंगी.

निगेटिव में दमदार

काजोल लंबे समय बाद वीआईपी 2 में ग्रे शेड किरदार में दिखाई देंगी. इससे पहले वह गुप्त में निगेटिव भूमिका निभा चुकी हैं. दर्शकों को दोबारा उन्हें ग्रे किरदार में देखना दिलचस्प होगा.